behavior="scroll" height="30">हिन्दी-हरियाणवी हास्व्यंग्य कवि सम्मेलन संयोजक एवं हिन्दी-हरियाणवी हास्व्यंग्य कवि योगेन्द्र मौदगिल का हरियाणवी धमाल, हरियाणवी कविताएं, हास्य व्यंग्य को समर्पित प्रयास ( संपर्कः o9466202099 / 09896202929 )

शुक्रवार, 2 मई 2008

फैशन चैनल

ताऊ बोल्या
ताई तै लगवा कै केबल
बिछा खटोल्ला चल देक्खेंगें फैशन चैनल
ताई बोल्ली-कुछ तो ढंग की बात करया कर
बहू-बेटियां भी सैं घर म्हं किमे डरया कर
ताऊ बोल्या-मान ले मेरी
चिन्ता कर काफूर
अर्र बहूबेटियां का तो नास करणा लागरी
एकता कपूर
एक लुगाई आठ खसम अर् यार अठारां
घपलेबाजी करता घूम्मैं कुणबा सारा
मेरी चाद्दर खाट सै तेरी जूत किसे का
बहू किसी की पूत किसे का खसम किसे का
बहू बेटियां नै यू घपला
जिब लाग्गै सै धौला
फेर बता फैशन चैनल मैं के सै रोला
---योगेन्द्र मौदगिल

2 टिप्‍पणियां:

  1. एकता कपूर
    एक लुगाई आठ खसम अर् यार अठारां
    घपलेबाजी करता घूम्मैं कुणबा सारा
    मेरी चाद्दर खाट सै तेरी जूत किसे का
    वाह क्या बात हे,धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. सही कहा आपने मौदगिल साहब , एकता कपूर के सीरियल से अच्छा फैशन टीवी है, वैसे भगवान् से कम नही है एकता उनके सीरियल में जो भी मारे वो जिंदा हो जाता है.

    उत्तर देंहटाएं

आप टिप्पणी अवश्य करें क्योंकि आपकी टिप्पणियां ही मेरी ऊर्जा हैं बहरहाल स्वागत और आभार भी